शब्द शक्ति : परिभाषा, भेद और उदाहरण

शब्द शक्ति – Shabd Shakti Kise Kahate Hain   शब्द शक्ति से अभिप्राय — शब्द अपना एक निर्धारित अर्थ नहीं रखते। शब्दों का अलग-अलग संदर्भों में जब प्रयोग किया जाता है, तो उनके अलग-अलग अर्थ निकलते हैं।   इस अलग अर्थ का ज्ञान कराने वाली शक्ति ही शब्द शक्ति कहलाती …

आगे पढ़ें शब्द शक्ति : परिभाषा, भेद और उदाहरण

वाच्य : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Vachya in Hindi

वाच्य किसे कहते हैं। – Vachya in Hindi Grammar   वाच्य की परिभाषा – क्रिया के जिस रुप से यह जाना जाए की वाक्य में क्रिया द्वारा कही गई बात का विषय कर्त्ता है, अथवा कर्म है, या भाव है, उसे वाच्य कहते हैं।   वाच्य के भेद या प्रकार …

आगे पढ़ें वाच्य : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Vachya in Hindi

रस : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Ras in Hindi

रस – Ras in Hindi Grammar   विभावानुभावव्यभिचारिसंयोगादृसनिष्पत्ति:।   भरतमुनि ने अपने नाट्यशास्त्र में उक्त सूत्र को उल्लेखित किया है। सूत्र से स्पस्ट है की विभाव, अनुभाव और व्यभिचारी भावों के संयोग से रस की निष्पत्ति होती है।   रस किसे कहते हैं। – Ras Kise Kahate Hain   रस …

आगे पढ़ें रस : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Ras in Hindi

छन्द : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Chhand in Hindi

छन्द – Chhand Kise Kahate Hain   परिभाषा – जो पद रचना, वर्ण, वर्ण की गणना, क्रम, मात्रा, मात्राओं की गणना, गति आदि नियमों से निबद्ध हो, उसे छन्द कहा जाता है। अथवा, वर्णों या मात्राओं के नियमित संख्या के विन्यास से यदि आह्वाद उत्पन्न हो तो उसे छन्द कहते …

आगे पढ़ें छन्द : परिभाषा, भेद और उदाहरण – Chhand in Hindi

अलंकार : परिभाषा, प्रकार और उदाहरण – Alankar in Hindi

अलंकार – Alankar in Hindi Grammar   अलंकरोति इति अलंकार: – यह अलंकार की व्युत्पत्ति है। जैसे स्वर्णाभूषण नारी शरीर का सौंदर्य बढ़ाते हैं वैसे ही काव्य के शरीरभूत शब्द एवं अर्थ को उपमा आदि अलंकार सुशोभित करते हैं। संस्कृत के सभी आचार्यों ने शब्द और अर्थ को काव्य का शरीर …

आगे पढ़ें अलंकार : परिभाषा, प्रकार और उदाहरण – Alankar in Hindi