वचन किसे कहते हैं। परिभाषा, भेद और उदाहरण – Vachan in Hindi

वचन (Vachan in Hindi Grammar)

 

वचन की परिभाषा – एक या एक से अधिक वस्तुओं का बोध कराने वाले शब्दों को वचन कहते हैं।

 

जैसे – लड़का, कलम, घर, आम, पुस्तक आदि।

 

वचन के भेद या प्रकार (Vachan Ke Bhed in Hindi Grammar)

 

हिंदी व्याकरण में वचन दो प्रकार के होते हैं –

 

1 . एकवचन

2 . बहुवचन

 

1 . एकवचन

 

परिभाषा – जिस शब्द से एक वस्तु का बोध हो, उसे एकवचन कहते हैं।

 

जैसे – लड़का, घोड़ा, नदी, किताब आदि।

 

2 . बहुवचन

 

परिभाषा – जिस शब्द से एक से अधिक वस्तुओं का बोध हो, उसे बहुवचन कहते हैं।

 

जैसे – लड़के, घोड़े, नदियाँ, किताबें आदि।

 

*** वचन संबंधी नियम ***

 

1 . प्रत्येक और हरेक शब्द सदैव एकवचन रहते हैं।

 

जैसे –

 

प्रत्येक मनुष्य हिंसा से सावधान रहता है।

हरेक व्यक्ति बुद्धिमान होता है।

 

2 . निम्न शब्द सदैव बहुवचन में प्रयुक्त होते हैं – आँसू, होंठ, प्राण, लोग, हस्ताक्षर, अक्षत, होश, बाल, दर्शन आदि।

 

जैसे –

 

राधा के आँसू आ गए।

मंदिर में लोग भगवान के दर्शन के लिए आते हैं।

साहब के हस्ताक्षर होने अभी शेष है।

 

3 . भाववाचक व गुणवाचक संज्ञाएँ प्रायः एकवचन में ही प्रयुक्त होती है।

 

जैसे – सुंदरता, बचपन, मिठास, स्वाद आदि।

 

उदाहरण –

 

स्त्री की सुंदरता उसका गहना होती है।

राजेश का बचपन याद आता है।

आम में स्वाभाविक मिठास होती है।

 

4 . जहां आदर या सम्मान व्यक्त करने हेतु एक व्यक्ति के लिए भी बहुवचन का प्रयोग किया जाता है, वहाँ आदरार्थक बहुवचन होता है।

 

जैसे –

 

पिताजी आए हैं।

गुरुदेव विद्वान हैं।

गांधी जी अहिंसावादी थे।

सुभाष चंद्र बोस सच्चे देशभक्त थे।

 

5 . स्वाभिमान या अधिकार प्रकट करने के लिए संज्ञा, सर्वनाम आदि का बहुवचन के रूप में प्रयोग किया जाता है।

 

जैसे –

 

हमें तुमने क्या समझ रखा है?

चुपचाप चले जाओ।

कभी तो हमें भी स्मरण कर लिया करो।

 

6 . लोक-व्यवहार में प्रयोग लाए जाने वाले शब्द जैसे – तू (एकवचन), तुम (बहुवचन) आदि का प्रयोग आजकल कम होता है।

 

जैसे –

 

बेटा, तुम जाकर खेलो।

छोटू! तू मुर्ख का मुर्ख ही रहा।

 

7 . समुदायवाचक शब्द एकवचन संज्ञा शब्दों के साथ गण, लोग, जन, मंडल, परिषद, हर, समूह, वृन्द और वर्ग जोड़कर बहुवचन बना लिए जाते हैं।

 

जैसे –

 

मजदूर लोग आज हड़ताल पर है।

अध्यापकगण विचार-विमर्श में लगे हैं।

 

8 . द्रव्यवाचक संज्ञाएँ एकवचन में प्रयुक्त होती है।

 

जैसे –

 

सोना महंगा है।

चांदी सस्ती है।

 

9 . अकारान्त शब्दों को छोड़कर अन्य पुल्लिंग शब्दों के कर्ता कारक में एकवचन और बहुवचन के एक जैसे ही रूप होते हैं।

 

जैसे – बालक, मुनि, हाथी, उल्लू।

 

वचन परिवर्तन के नियम –

नियम एकवचन बहुवचन एकवचन बहुवचन
'आ' को 'ए' में बदलकर - कमरा
पपीता
कमरे
पपीते
लड़का
रसगुल्ला
लड़के
रसगुल्ले
शब्दांत 'अ' को 'ऐं' में बदलकर - दाल
किताब
दालें
किताबें
दीवार दीवारें
शब्दांत में आये 'आ' के साथ 'एँ' जोड़कर - बाला
कथा
बालाएँ
कथाएँ
कविता
बाधा
कविताएँ
बाधाएँ
'ई' वाले शब्दों के अंत में 'इयाँ' लगाकर - लड़की
बीमारी
लड़कियाँ
बीमारियाँ
दवाई दवाइयाँ
स्त्रीलिंग शब्द में आए 'या' को 'याँ' में बदलकर - चिड़िया
गुड़िया
चिड़ियाँ
गुड़ियाँ
डिबिया डिबियाँ
स्त्रीलिंग शब्द में आए उ, ऊ के साथ 'एँ' लगाकर - वधु
वस्तु
वधुएँ
वस्तुएँ
बहू बहुएँ
इ, ई स्वरांत वाले शब्दों के साथ 'यों' लगाकर - जाति जातियों रोटी रोटियों
तथा 'ई' की मात्रा को 'इ' में बदलकर - नदी
बकरी
नदियों
बकरियों
देवी
कुर्सी
देवियों
कुर्सियों

 

वचन के अन्य उदाहरण – Vachan in Hindi Examples

 

एकवचन – बहुवचन

पढता है – पढ़ते है

गाय – गायें

जूता – जूते

बात – बातें

तोप – तोपें

लुटिया – लुटियाँ

ऋतू – ऋतुएँ

शत्रु ने – शत्रुओं ने

बहू को – बहुओं को

मकान पर – मकानों पर

कीमत – कीमतों

निधि – निधियाँ

व्यथा – व्यथाएँ

बच्चा – बच्चे

भैंस – भैंसें

नीति – नीतियाँ

राशि – राशियाँ

नगर की – नगरों की

कली – कलियाँ

तलवार – तलवारें

रात्रि में – रात्रियों में

चोर को – चोरों को

नदी – नदियाँ

खटिया – खटियाँ

आँख – आँखें

रेल – रेलें

टोपी – टोपियाँ

बुढ़िया – बुढ़ियाँ

बेटा – बेटे

गाँव से – गाँवों से

रोटी – रोटियाँ

समिति – समितियाँ

माता में – माताओं में

भेड़िया – भेड़िये

माध्यम – माध्यमों

 

आप यह महत्वपूर्ण हिंदी व्याकरण के चैप्टर को भी जरूर पढ़िए –